देश देख रहा है, एक अकेला कितनों पर भारी पड़ रहा है राज्यसभा में गरजे पीएम मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा का जवाब दे रहे हैं। विपक्षी की ओर से नारेबाजी और शोरगुल के बीच पीएम मोदी ने अपना संबोधन शुरू किया। पीएम मोदी ने कहा-देश हमारे साथ है, जनता कांग्रेस को नकार रही है.. लेकिन कांग्रेस अपनी आदतों से बाज नहीं आ रही है। लेकिन जनता सब देख रही है और हर मौके पर सजा भी दे रही है। इससे पहले कल उन्होंने लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा का जवाब देते हुए विपक्ष पर हमला बोला था। पीएम मोदी ने कहा कि देश के140 करोड़ लोगों के विश्वास का सुरक्षा कवच उनके साथ है।

पीएम मोदी ने अपने  राज्यसभा में कहा कि आज मैं पूरा काला चिट्ठा खोलना चाहता हूं। उन्होंने राज्यों के अधिकारों को घज्जियां उड़ा दीं। मैं कच्चा-चिट्ठा खोलना चाहता हूं। वो लोग कौन थी, जिन्होंने आर्टिकल 356 का दुरुपयोग किया? इस बीच पीएम मोदी ने केरल के राजनीतिक प्रसंग का जिक्र  किया। कहा कि वामपंथी सरकारों को  तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित नेहरू पसंद नहीं करते थे, इसलिए उस सरकार को गिरा दिया गया। पीएम मोदी ने कहा कि तमिलनाडु में भी एमजीआर और करुणानिधि जैसे दिग्गजों की कई सरकारों को कांग्रेस वालों को गिरा दिया। एनजीआर की आत्मा देखती होगी,आप कहां खड़े हो। सुनिये राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर पीएम मोदी का जवाब।

पीएम मोदी ने विपक्षियों पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मैं विपक्षियों की पीड़ा को समझ सकता हूं, क्योंकि हमारी सरकार ने सभी परियोजनाओं के लाभ को आम जनता तक पहुंचाने की दिशा में आ रही सभी बाधाओं को ध्वस्त किया है।  पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कांग्रेस पर भ तंज कसा। प्रधानमंत्री ने कहा कि लटकाना अटकाना और भटकाना इन लोगों की कार्य संस्कृति रही है। लेकिन हमारी सरकार ने इस संस्कृति को सिरे से खारिज कर जनता तक लाभ पहुंचाने का मार्ग प्रशस्त किया है।

पीएम मोदी ने गांधी परिवार पर भी जोरदार हमला बोला। पीएम मोदी ने कहा कि गांधी परिवार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आखिर क्या शर्मिंदगी है कि नेहरू सरनेम रखने से, वो तो बहुत ही महान व्यक्ति थे। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि 600 से ज्यादा योजनाएं गांधी-नेहरू के परिवार पर हैं। अगर किसी कार्यक्रम में नेहरू जी का नाम नहीं प्रयोग हुआ तो कुछ लोगों का खून गर्म हो जाता था, लेकिन मुझे यह नहीं समझ आता कि उनके पीढ़ी का कोई व्यक्ति को नेहरू सरनेम रखने में क्या आपत्ति है। और आप हमारा हिसाब मांगते हैं।

राज्यसभा में पीएम मोदी के भाषण के बीच विपक्षी दल जोरदार हंगामा कर रहे हैं और मोदी-अदानी भाई-भाई के नारे लगा रहे हैं। हालांकि, राज्यसभा सभापति ने उन्हें विपक्षियों से ऐसा नहीं करने की अपील की है, लेकिन विपक्षी दलों की ओर से कोई सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं आई है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *