विज्ञापन के लिए संपर्क करें :- +918630520090

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

बंगाल में अलर्ट जारी, बारिश के साथ खाड़ी में चक्रवाती तूफान की आहट

नई दिल्ली। तमिलनाडु में एक बार फिर बारिश कहर बरपाने वाली है। बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र गहरे दबाव में बदल गया है। ऐसे में बुधवार शाम संयुक्त अरब अमीरात की ओर से दिया गया नाम ‘मैंडूस’ नामक चक्रवाती तूफान में तब्दील होगा। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने गुरुवार को उत्तर तमिलनाडु, पुडुचेरी और दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों के लिए अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग ने बंगाल की खाड़ी में गहरे दवाब के कारण चक्रवाती तूफान मैंडस का अलर्ट दिया है। चक्रवाती तूफान के कारण इलाके में भारी बारिश की भविष्यवणी की गई है। आईएमडी ने गुरुवार को ट्वीट कर जानकारी दी कि “दक्षिण-पश्चिम और उससे सटे दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी में गहरे दवाब के बाद एक चक्रवाती तूफान में बदल गया है। इसे लेकर उत्तर तमिलनाडु, पुडुचेरी और दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में अलर्ट जारी किया गया।”

अगले दो दिन भारी बारिश का अलर्ट

आईएमडी ने गुरुवार को बताया कि दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश और रायलसीमा के आस-पास के इलाकों में भारी बारिश की संभावना जताई गई है। अधिकांश इलाकों में हल्की बारिश और तटीय तमिलनाडु, पुदुचेरी और कराईकल के अलग-अलग इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश के चुनिंदा इलाकों में 10 दिसंबर को बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। उसके बाद रात तक ये 40-50 की रफ्तार तक पहुंच जाएंगी।

तमिलनाडु के इन जिलों में अलर्ट

IMD ने तमिलनाडु के विल्लुपुरम, चेंगलपट्टू, कुड्डालोर, कांचीपुरम, तिरुवल्लूर, अरियालुर, पेराम्बलुर, चेन्नई, कल्लाकुरिची, माइलादुथुराई, तंजावुर, तिरुवरुर और नागापट्टिनम जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। साल 2016 से हर दिसंबर में तमिलनाडु में बाढ़ जैसी स्थिति की सूचना मिली है। राज्य में बारिश के रेड अलर्ट के बीच तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) की छह टीमों को तैनात किया गया है। टीमों को कथित तौर पर नागापट्टिनम, तिरुवरुर, कुड्डालोर, माइलादुथुराई, तंजावुर और चेन्नई में तैनात किया गया है।

मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह

IMD ने मधुआरों को सलाह दी है कि वे इन दिनों में दक्षिण पूर्व बंगाल की खाड़ी में न जाएं। वहीं पुडुचेरी के मुख्यमंत्री एन रंगास्वामी ने चक्रवात ‘मैंडस’ के कारण भारी बारिश की चेतावनी के बाद NDRF के साथ समीक्षा बैठक की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें